चिटफ़ंड से पैसा बड़ी खबर -जमकर्ता है तो देखे

By | October 18, 2020
चिटफ़ंड से पैसा बड़ी खबर -जमकर्ता है तो देखे
चिटफ़ंड से पैसा बड़ी खबर -जमकर्ता है तो देखे

चिटफ़ंड से पैसा बड़ी खबर -जमकर्ता है तो देखे ,जमा RD,FD का पैसा योजना ,केंद्रीय रजिस्टार कैसे बनवाते चिटफ़ंड,क्रेडिट कोपरेटिव

जमापैसा

जब जब हमको कोई बड़ा काम करना होता है हमको चिटफ़ंड की मदद लेते है क्योकि हम जानते

है की देहाड़ी मजदूर और निजी काम दुकान आदि करने वालों के पास अपने बेटी की शादी या मकान बनाने के लिए छोटी छोटी रकम को किशी न किशि निजी संस्था मे जमाँ करते है इन संस्थाओ को ही चिटफ़ंड के नाम से जाना जाता है जिनको कोई भी प्राइवेट व्यक्ति अपना केंद्रीय रजिस्टार से पंजीकरण कराते है या फिर मिनिस्टरी ऑफ कॉरपोरेट अफेयर के जरिये पंजीकृत किया जाता है । कितनी बड़ी है चिट फ़ंड संस्था ये बाते उनको मिलने वाली जमा का दायरा बताता है ।

आम आदमी की पूंजी

जब भी आम आदमी अपनी बचत को शुरकक्षित रखना चाहता है तो वो अपने जानकार के पास उसको रखना पसंद करता है जैसे की बड़े सेठ साहूकार के पास जिससे वो लेन देंन करता हो इस कारण से भी की वो किशि तरह के बैंक आदि मे समय की कमी और जानकारी न होने के कारण भी जाना नहीं चाहता है इसके अलावा वो सोचता है की मुझे आधि रात मे भी पैसो की जरूरत पड़ेगी तो मे सेठ जी से पैसे ले लूगा ।

  • मजदूर का बैंक के बारे मे न जानने के कारण चिटफ़ंड का विकास होता है ।
  • मजदूरी न छूटे इसलिए चिट फ़ंड मे आम आदमी अपने पैसे जमा करता है ।
  • ब्याज भी ज्यादा मिलने की पूरी पूरी जानकारी अजेंट के जरिये मिल जाती है ।
  • साथ ही घर बैठे ही पैसा जमा और निकलने की शुविधा भी रहती है ।
  • चिट फ़ंड को पंजीकृत करने वाली संस्थ का लिंक है HERE
  • MINISTRY OF CORPORETE AFFAIR की मुखिया
  • हमारी वित मंत्री श्री निर्मला सितारमन जिंनका टोल फ्री नमबर है 011-23073804 ,011-23073805 ,011-23073806 ये फ़ैक्स
  • इन फ़ैक्स नमबर के जरिये आम आदमी भी अपनी मंत्री से संपर्क कर सकता है ।

चिटफ़ंड का पैसा

जब आम आदमी अपनी मेहनत की कमाई को इन छोटी छोटी संस्थाओ मे जमा करता है तो ये संस्था बड़े

धन को जमा कर लेती है । जिसके जरिये वो किशी भी काम को शुरू कर देती है जैसे की बाजार मे किशी प्रोडक्ट का उत्पादन शुरू करना जिसका बाजार मे जरूरत होती है या फिर कोई होटल का उधोग शुरू कर देती है जिससे चिट फ़ंड की संस्था को मुनाफा होने लगता है और उस मुनाफे का कुछ हिस्सा वो ब्याज के रूप मे अपने जमकर्ता को देने लग जाता है ।

  • चिटफ़ंड का विकास होने लग जाता है लेकिन जब बाजार मे उनका प्रोडक्ट नहीं बिकता है ।
  • जिसके कारण चिट फ़ंड से बनी संस्था को हानी होने लगती है ।
  • जैसा की आम लोगो का जुटाया गया पैसा डूबने लग जाता है ।
  • जिस पर कोई समय रहते करवाही नहीं होती थी ।
  • लेकिन अब चिट फ़ंड एक्ट को फरवरी 2019 मे केबिनेट ने पारित कर दिया है ।
  • जिसके कारण अगर आम लोगो से जुटाये पैसो को संस्था नहीं देती है तो बड़ी कानूनी करवाही की जाती है ।
  • अगर संस्था आम आदमी से सीमा से ज्यादा पैसा लेती है तो भी कानून के अनुसार उसको अवेध माना जाता है ।
  • जैसा की आपने देखा होगा की pacl नामक चिट फ़ंड संस्था की
  • सारी संपति को ही sebi नामक सरकारी विभाग ने अपने हाथो मे लिया ।
  • सेबी ने pacl की संपत्ति को नीलाम किया और आम आदमी को पहचान करके उसके बैंक खाते मे पैसा दिया

चिट फ़ंड एक्ट के नियम

संसद ने अपनी शुजभुज से चिटफ़ंड नामक संस्था को कानूनी रूप फरवरी 2019 मे एक कानून बनाकर आम आदमी के जमा पैसो को डूबने से बचाने का कानून बनाया

  • जिसमे कंपनी अपने जमकर्ता को समय पर पैसा न दे तो उसकी संपत्ति को जब्त किया जा सकता है ।
  • साथ ही विज्ञापन करने वाले कलाकार तक से जुर्माना वसूला जा सकता है ।
  • इसके साथ ही चिट फ़ंड एक्ट मे प्रधान मंत्री की पुलिस यानि सीबीआई से भी जांच कराई जा सकती है । चिटफ़ंड से पैसा बड़ी खबर -जमकर्ता है तो देखे
  • आईटीआई परीक्षा कब होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *