Pm Fasal Beema Yojana

By | May 9, 2021

Pm Fasal Beema Yojana,प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना

पीएम योजना

देश मे कोई भी योजना जिसको पूरे देश मे चलाना हो और देश के आम जन को उससे जोड़ना हो यानि

की लाभान्वित करना हो तो देश के प्रदशन मंत्री कार्यालया से योजना को चलाया जाता है जिससे की हर राज्य मे उसको लागू किया जा सके हर राज्य के आम जन उस योजना से लाभान्वित हो सके साथ साथ देश मे आम जन का सभी राज्यो का एक जैसा आर्थिक विकास हो सके ।

ऐसी ही एक योजना का नाम है प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना जिसको केंद्र सरकार ने चलाया है सारे देश के किसानो को मोसम की मर से बचाने के लिए जैसा की हम देखते है कभी सूखे के कारण तो कभी अधिक बारिश के कारण किसान को सारी की सारी फसल खराब हो जाती है ।

  • किसान चुकी कर्ज लेकर ही फसल लगता है जिसको सही सही समय पर फसल को बेचकर चुकता करता है ।
  • लेकिन फसल को मोसम की मार के कारण खराब हो जाने से किसान के पास
  • अपना कर्ज चुकाने का कोई भी रास्ता नहीं बचता था ।
  • जिससे की बैंक से या साहूकार से लिया मोटा कर्ज को चुका सके ।
  • जिससे किसान हतास और निराश होकर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लेते थे ।
  • गन्ना किसानो का अपनी जीवन लीला का समाप्त करना आम बात हो गयी थी
  • अन्नदाता को इस असमय मृत्यु का वरन करने से बचाने के लिए
  • प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना चलायी गई है ।

पीएम फसल बीमा योजना

जैसा की नाम से ही पता चलता है की ये चलने वाली योजना सरकारी है जैसा की किसान क्रेडिट कार्ड

पर किसान को बिना किशि गारंटी के लोन दिया जाता है ।

  • किसान को मिलने वाला लोन लगाई जाने वाली फसल के आधार पर दिया जाता है ।
  • माना किसान को बैंक लोन दे देता है लाखो रुपए का लेकिन फसल बीमा नहीं करता है ।
  • किसान की फ़सल अधिक बारिश आदि के कारण खराब ह जाती है तो
  • किसान को दिया गया लोन कैसे वापिस होगा
  • इसलिए अब जो भी किसान को किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन दिया जाता है पहले उसका फसल बीमा किया जाता है ।
  • जिससे की मोसम की आपदा के कारण अगर फसल खराब हो जाती है उसका नुकसान बीमा कंपनी भरती है ।
  • जिससे किसानो को बैंक लोन चुकाने मे राहत मिल जाती है फसल के खराब हो जाने पर भी

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अधिसूचित फसल

  • बाजरा
  • ज्वार
  • मक्का
  • मूंग
  • मोठ
  • गवार
  • चावला
  • उड़द
  • अरहर
  • सोयाबीन
  • तिल
  • धान
  • कपास
  • मूंगफली

किसानो द्वारा जो खरीफ की फसल की फसल बीमा प्रीमियम भी नाम मात्र की दी जाती है । जैसे की

सभी खरीब फसल के लिए प्रधान मंत्री फसल बीमा प्रीमियम केवल 2 % ही किसान के जरिये दी जाती है ।

जिसमे भी अगर किसान वार्षिक वाणिज्यिक या बागवानी की फसल का प्रधानमंत्री फसल बीमा करता है तो किसान को केवल 5 % ही फसल बीमा की प्रीमियम देनी होती है । इस योजन मे राज्य भी अपने किसानो को फसल बीमा देने के लिए शामिल हो गए है जिससे अब ये योजना राज्य और केंद्र सरकार की सामूहिक योजना कहलाती है ।

Pm Fasal Beema Yojana Benefits

किसान को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत निम्न लिखित जोखिम शामिल है ।

  • फसल की बुवाई न कर पाने या असफल अंकुरण के जोखिम होने पर जैसा की बीमित क्षेत्र मे कम वर्षा या प्रतिकूल मोसम
  • मोसमी दशाओ के कारण बुवाई ,पोधा रोपण या अंकुरण न होने की दशा मे हुई हानी से सुरक्षा प्रदान करता है ।
  • खड़ी फसल यानि की बुवाई से कटाई तक फसल बीमा फसल मे होने वाली मोसमी परेशानी से हानी की पूर्ति करता है ।
  • जैसा की सूखा ,बाढ़ , जल भराव ,व्यापक रूप से कीटो और रोगो का प्रभाव
  • भूस्खलन ,प्राकृतिक कारणो से आग ,आकाशीय बिजली तूफान ,औला वृष्टि ,तथा चक्रवात जैसे जोखिम
  • जो जोखिम को रोका न जा सके जिनके कारण फसल को व्यापक नुकसान होता है ।
  • फसल कटाई के उपरांत नुकसान
  • जैसा की बारिश चक्रवात आँधी तूफान के कारण खेत मे कटी हुई फसल को नुकसान हो जाता है तो भी फसल बीमा हानी की पूर्ति करता है ।
  • खेत मे कटी फसल को 14 दिन तक ही फसल बीमा का दायरा मिलता है ।
  • यानि की किसान ने फसल काटकर 14 दिन से अधिक समय के लिए
  • खेत मे ही छोड़ रखी है तो लाभ नहीं मिलता है ।
  • स्थानीय आपदा जैसा की खड़ी फसल पबिजली गिरने पर भी पीएम फसल बीमा से फ़सल को कवर मिलता है ।
  • इसी तरह तैयार फसल कई बार बादल फटने जैसी परेशानी का सामना भी करती है।
  • जिससे किसानो को हानी का बीमा मिलता है ।
  • कई बार खेत मे फसल प्राकृतिक आग का भी शिकार हो जाती है।
  • जिसमे किसान को बीमा ही हानी से बचाता है ।

फसल बीमा के लिए दस्तावेज़

किसान जो किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेते है उनकी पीएम फसल बीमा योजना के लगाने वाले डोकोमेंट्स तो लोन देने वाले बैंक के जरिये पूर्ति कर दिये जाते है ।

लिकिन जब किसान लोन न ले तो और वह अपनी फसल का पीएम फसल बीमा लेना चाहे तो उसका निम्न दस्तावेज़ लगाने होते है

  • किसान का आधार कार्ड
  • खेत की भू अभिलेख का रिकॉर्ड
  • बोई जाने वाली फसल का प्रमाण पत्र जो कृषि विभाग के कार्मिक जारी करते है ।
  • किसान की बैंक पास बूक
  • यदि कृषक ने खेत ठेके पर लिया है तो भू मालिक का घोषणा पत्र ।

पीएम फसल बीमा योजना की सरकारी वैबसाइट लिंक https://pmfby.gov.in/

किसान इस वैबसाइट पर जाकर आसानी से अपनी फसल का बीमा करा सकता है अगर चाहता है की कैसा तरह से फसल बीमा मे दी जाने वाली किस्त का आकलन हो तो इसकी ज्नकारी भी इस वैबसाइट मे दी है जिससे किसान आने वाली फसल बीमा की प्रीमियम को आसानी से केलकुलेट कर सकता है ।

प्रधानमंत्री फसल Beema Yojana क्लेम हासिल करे -इन दस्तावेज़ से Pm kisan

पीएम फसल बीमा आवेदन

Pm Fasal Beema Yojana
Pm Fasal Beema Yojana

अब जैस की पीएम फसल बीमा मे आवेदन हो रहे है जिसमे सभी आवेदन खरीफ की फसल के लिए किए जा रहे है

अब जैसा की चाहे किसान जिसने लोन लिया है चाहे नहीं लिया सबको फसल बीमा मे आवेदन की अंतिम तिथि 20 जुलाई है ये तिथि ही पीएम फसल बीमा करने की अंतिम तिथि है । जिसमे किसान अपनी फसल का बीमा करा सकते है बताई गयी बीमा प्रीमियम को जमा करके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *