मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा

By | May 10, 2021

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा,पांच लाख का स्वास्थय बीमा योजना ,फ्री ईलाज जानकारी

भारत जैसे विशाल देश मे अनेको स्वास्थय बीमा योजना चल रही है जिनका सबका उद्देशय है की आमजन जिन्होंने कोई भी स्वाथय बीमा कंपनी में पंजीकरण कराया हो ईलाज का खर्चा उठाया जाये।

इस तरह की बीमा योजना फसल के हानि को रोकने के लिए भी चलाई गयी है जिसको हम फसल बीमा योजना कहते है। इन सभी बीमा योजना का उद्देश्य सीधे तोर पर आमजन को जन धन हानि को रोकना है।

हॉस्पिटल पर्ची बनेगी ई मित्रा पर 2020-HOSPITAL SLIP E-MITRA SHOP YOJANA

स्वास्थय बीमा

जैसा की नाम से ही पता चलता है स्वाथय से जुड़ा बीमा जिसके जरिये ईलाज सम्बन्धी सहायता दी जाती है जैसा की हम एक उदहारण से इस बीमा योजना को समझते है।

एक व्यक्ति राम जो किसी निजी कंपनी में मजदूरी करता है उसने अपने परिवार का स्वास्थय बीमा करा लिया है। माना की उसने अपनी सालाना आय के अनुसार स्वास्थय बीमा की पोलोसी ले ली।

दूसरी तरफ उसका छोटा भाई श्याम किसी दूकान पर काम करता है उसने कोई भी स्वास्थय बीमा की पोलोसी नहीं ली है।

बीमारी बीमा लाभ

जैसा की बड़े भाई ने स्वास्थय बीमा की पोलोसी ली है जिसमे उसके किसी कारण से पांच दिन तक हॉस्पिटल में एडमिट रहने जैसा कोई भी बीमारी हो जाती है।

अब चुकी राम ने अपना स्वास्थय बीमा लिया है तो उसके लगभग स्वास्थय बीमा पोलोसी के अनुसार आने वाले हॉस्पिटल के बिल बीमा कंपनी के जरिये ही भुगतान किये जायेगे जिससे उसकी आर्थिक हालात भी ख़राब नहीं होंगे।

दूसरी और उसके भाई श्याम ने कोई भी स्वास्थय बीमा पोलोसी नहीं ले राखी है जिसके कारण किसी भी तरह की बीमारी होने पर जिसमे उसको हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़े पांच दिन के आस पास तो हॉस्पिटल का सारा बिल का भुगतान उसके जेब से ही किया जायेगा उसकी आर्थिक हालात भी ख़राब हो जाएगी।

राजस्थान में स्वास्थय बीमा योजना

जैसा की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भामाशाह स्वास्थय बीमा योजना के जरिये सभी राजस्थान निवासियों को स्वास्थय बीमा लाभ पांच लाख रूपये तक का दिया था जिससे की आमजन आसानी से अपना परिवार के सदस्य का ईलाज करा ले।

स्वास्थय बीमा योजना के लाभ खुद व् परिवार के सभी सदस्यों को मेडिकल इमरजेंसी का सामना करने में सक्षम बनाती है इसमें मिलने वाले तरह से है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा
  • अस्पताल में भर्ती खर्चो का कवरेज।
  • अस्पताल के पूर्व व् भर्ती बाद के खर्चो का कवरेज।
  • नमकन के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा नहीं।
  • बड़े ऑपरेशन के लिए किसी तरह की कोई फीस नहीं देनी पड़ती है।
  • पांच लाख तक का ईलाज किया जाता है।

रजिस्टेशन के लिए किसी तरह की कोई सिफारिस या बड़ी राशि देनी की आवश्यकता नहीं है। राज्य का निवासी होना ही स्वास्थय बीमा योजना में पंजीकरण का आधार बनाया गया है। इस योजना से लाखो लोग निःशुल्क ईलाज का फायदा ले चुके है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा योजना

जैसा की १ अप्रैल २०२१ से इस स्वास्थय बीमा योजना में राजस्थान के निवासियों का पंजीकरण होना शुरू हो चूका है। जिसमे अब तक लगभग 3500 करोड़ का प्रीमियम राज्य सरकार के जरिये वहन किया जा रहा है।

अब इस योजना में पंजीकरण की अंतिम तिथि को बढ़कर 31 मई 2021 कर दिया गया है। योजना की विशेषता इस प्रकार है।

  • राजस्थान राज्य के 765 सरकारी और 330 से अधिक सम्बन्ध निजी अस्पतालों में भर्ती होने पर पांच लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा।
  • हार्ट ,कैंसर किडनी ,डायलसिस और कोविड -19 जैसी गम्भीर बीमारियों सहित 1576 प्रकार के पैकेज और प्रोसीज़र उपलब्ध।
  • भर्ती के पांच दिन पूर्व और डिस्चार्ज के 15 दिन तक का चिकित्सा व्यय शामिल।
  • अस्पताल में भर्ती होने पर लाभार्थी ले सकेंगे निःशुल्क उपचार।
  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के लाभार्थियों को रजिस्टेशन की आवशयकता नहीं है।
  • उनको भामाशाह स्वास्थय बीमा योजना की तरह लाभ मिलता रहेगा।

एक तरह से आमजन का स्वास्थय बीमा राज्य सरकार के जरिये कराया गया है जिससे एक मुखिया के जरिये उसके परिवार के सभी सदस्यों को कार्ड को जोड़कर योजना में शामिल किया गया है।

योजना लाभ

जिन्होने ३० अप्रैल २०२१ तक अपना रजिस्टेशन करा लिया है उनको योजना का लाभ १ मई २०२१ से मिलना शुरू हो गया है।

अब आगे 31 मई तक रजिस्टेशन करने वालो को भी रजिस्टेशन की दिनांक से लाभ मिल पायेगा इसके बाद कोई रजिस्टेशन करता है तो उसको 1 अगस्त 2021 से मुख्यमंत्री स्वास्थय बीमा योजना का लाभ मिल पायेगा।

  • ई -मित्रा पर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वस्थ्य बीमा योजना पंजीकरण बिलकुल निशुल्क है।
  • योजना का लाभ लेने के लिए परिवार का आकार व् आय की सीमा नहीं है।
  • सरकारी कर्मचारी को इस योजना से नहीं जोड़ा गया है।
  • क्योकि राज्य सरकार ने केंद्र की cghs की जैसी राज्य सरकार के जरिये rghs लागु की जा रही है।
  • लाभार्थियों की की सख्या और सुविधाओ के बड़े आकार के कारण यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज करने वाला पहला राज्य राजस्थान बन गया है।

कोई भी राजस्थान में पंजीकृत व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने के लिए हॉस्पिटल जाते समय केवल अपना जनाधार कार्ड या जनाधार पंजीयन रशीद या चिरंजीवी बीमा पोलोसी प्रमाण पत्र को साथ ले जाना होगा।

योजना की शर्ते

जैसा की मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा योजना का उद्देशय आमजन को बड़ी बड़ी बीमारियों से आने वाले खर्च से बचाना है साथ ही उनकी आर्थिक स्थिति को सही बनाये रखना है जिससे आमजन पर बीमार होने पर अतिरिक्त भार न पड़े।

  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना -2011 के लाभार्थी को योजना का लाभ अपने आप मिल पायेगा।
  • लघु व् सीमांत कृषक ,सविदाकर्मी व् गत साल covid -19 अनुग्रह राशि भुगतान राज्य सरकार के जरिये दिया जायेगा।
  • इस श्रेणी को छोड़कर जो भी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा योजना का लाभ लेना चाहते है उनको 850 रूपये खुद जमा करने होंगे।

इस योजना की अधिक जानकारी के लिए विभाग की वेबसाइट https://chiranjeevi.rajasthan.gov.in पर देख सकते है या 181 पर भी जानकारी कॉल करके ली जा सकती है।

जनाधार नामांकन न होना

जैसा की हमने देखा है की अभी भी सबने अपना जनाधार कार्ड नहीं बनवाया है लेकिन अब वे अपना पंजीकरण मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थय बीमा योजना में करना चाहते है तो भी उनको मदद की जा रही है।

इसके लिए www.tesjpr.com पर apply for jan aadhar पर क्लिक करके आवशयक जानकारी भरकर अप्लाई पर क्लिक करे जिसके बाद आगे की प्रक्रिया कर दी जाएगी।

जन आधार के लिए आवश्यक दस्तावेज सबसे पहला है आपका आधारकार्ड होना चाहिये इसके बाद जिस महिला को आप परिवार की मुखिया बना रहे है जैसा की माता या पत्नी को उसके बैंक की पास बुक या केंसिल चेक की फोटो भी लगानी होगी। साथ में एक एक फोटो सभी के सभी परिवार के मेंबर की

यदि परिवारका राशनकार्ड राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जुड़ा है तो ही आपको एक एक फोटो देने की जरूरत है अन्यथा नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *